बाजार की गिरावट पर छोटे निवेशकों से बोले सेबी चेयरमैन

0
66

नई दिल्ली:एजेंसी।बाजार नियामक सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने शनिवार को कहा कि बाजार की गिरावट से छोटे निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) के सेंसेक्स में बजट के बाद से करीब दो हजार अंकों से भी अधिक की गिरावट आ चुकी है। सेबी प्रमुख ने बाजार में इस गिरावट से हतोत्साहित निवेशकों को भरोसा देते हुए यह बात कही है।
म्यूचुअल फंड में निवेश करना अच्छा
सेबी प्रमुख ने कहा कि छोटे निवेशक बाजार की गिरावट से न घबराएं क्योंकि वे म्यूचुअल फंड के जरिये इसमें निवेश कर अच्छा कर रहे हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि जमा खाता (सेविंक अकाउंट) की तरह म्यूचुअल फंड भी जोखिम से मुक्त नहीं है। उल्लेखनीय है कि शेयरों में सीधे निवेश करने पर यदि बाजार में गिरावट आती है तो निवेशकों को पूरी राशि पर नुकसान होता है। जबकि म्यूचुअल फंड कंपनियां निवेशकों से राशि लेकर कई कंपनियों या क्षेत्रों में निवेश करती है। इसकी वजह से शेयरों की तुलना में म्यूचुअल फंड में निवेश पर जोखिम घट जाता है और नुकसान भी कम हो जाता है। यही वजह है कि सेबी प्रमुख ने म्यूचुअल फंड के जरिये निवेश को बेहतर बताया है। वहीं बैंक के बचत खाता में एक लाख रुपये तक की राशि पूरी तरह सुरक्षितत होती है क्योंकि उसकी गारंटी सरकार की तरह से होती है।
बाजार में आगे भी गिरावट की आशंका
सेबी चेयरमैन ने निवेशकों को अगाह करते हुए कहा कि वैश्विक कारणों से कुछ समय तक भारतीय बाजार में उथल-पुथल जारी रह सकती है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि यह निवेशकों के लिए चिंता का विषय नहीं है।
एलटीसीजी का असर होगा
सरकार ने इस बार बजट में शेयरों को एक साल बेचने पर लंबी अवधि का पूंजीगत लाभ कर (एलटीसीजी) लगाने का फैसला किया है। एक लाख रुपये से अधिक की कमाई पर ही यह लागू होगा। बाजार विश्लेषकों का मानना है कि बाजार में गिरावट की एक वजह यह भी है। जबकि कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि इसका असर नहीं पड़ेगा। सेबी प्रमुख ने कहा कि यह कहना गलत है कि दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर का भारतीय बाजार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। हालांकि उन्होंने कहा कि यह छोटा जोखिम है, वैश्विक कारक बड़े जोखिम हैं।
कॉरपोरेट बॉन्ड से पूंजी जुटाने को प्रोत्साहन 
सेबी चेयरमैन ने कहा कि सूचीबद्ध कंपनियों के लिए 25 प्रतिशत पूंजी कॉरपोरेट बॉन्ड के जरिये जुटाना अनिवार्य करने का सरकार का प्रस्ताव अच्छा कदम है। उन्होंने कहा कि कंपनियों को कॉरपोरेट बॉन्ड के जरिये पूंजी जुटाने के लिए प्रोत्साहन देने हेतु सेबी इस संबंध में जल्दी ही प्रावधान तय करेगा। त्याही ने कहा कि इस संबंध में विस्तृत नियम सितंबर तक आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)